Home Technology भारत ने लैपटॉप और कंप्यूटर के इंपोर्ट पर लगाया बैन, क्या महंगे...

भारत ने लैपटॉप और कंप्यूटर के इंपोर्ट पर लगाया बैन, क्या महंगे हो जाएंगे MacBooks और बाकी लैपटॉप्स?

57
0

Indian Government ने लैपटॉप, टैबलेट और पर्सनल कंप्यूटर के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया. इस प्रतिबंध के तहत आने वाले उत्पादों में लैपटॉप, टैबलेट, पर्सनल कंप्यूटर, अल्ट्रा स्मॉल फॉर्म फैक्टर कंप्यूटर और सर्वर शामिल हैं.

भारत सरकार ने गुरुवार को लैपटॉप, टैबलेट और पर्सनल कंप्यूटर के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया. यह प्रतिबंध HSN 8741 कैटेगरी के तहत आने वाले सभी उत्पादों पर लागू होगा. इस प्रतिबंध के तहत आने वाले उत्पादों में लैपटॉप, टैबलेट, पर्सनल कंप्यूटर, अल्ट्रा स्मॉल फॉर्म फैक्टर कंप्यूटर और सर्वर शामिल हैं.

यह प्रतिबंध भारत सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान का एक हिस्सा है. इस अभियान का उद्देश्य भारत में घरेलू उद्योगों को बढ़ावा देना और आयात पर निर्भरता को कम करना है. सरकार का मानना है कि यह प्रतिबंध भारत में लैपटॉप और कंप्यूटर उद्योग को बढ़ावा देगा और देश में रोजगार के अवसरों को पैदा करेगा.

क्या है HSN 8741 कैटेगरी?
HSN 8741 कैटेगरी में अल्ट्रा स्मॉल फॉर्म फैक्टर वाले कंप्यूटर और सर्वर आते हैं. अभी तक इन प्रोडक्ट्स को मंगवाना आसा था. लेकिन वे अब भारत में आयात करने के लिए प्रतिबंधित हैं.

क्यों लिया गया यह फैसला?
भारत में बेचे जाने वाले अधिकांश लैपटॉप और पर्सनल कंप्यूटर चीन में निर्मित या असेंबल किए जाते हैं, और इस नए नियम के साथ सरकार इस मैनुफैक्चरिंग और असेंबलिंग में से कुछ को भारत में शिफ्ट करने की उम्मीद कर रही है. डायरेक्टरेट जनरल ऑफ फॉरन ट्रेड द्वारा गुरुवार सुबह लैपटॉप के आयात प्रतिबंध पर निर्देश जारी किया गया.

नोटिस में कहा गया है, ‘एचएसएन 8741 के तहत आने वाले लैपटॉप, टैबलेट, ऑल-इन-वन पर्सनल कंप्यूटर और अल्ट्रा स्मॉल फॉर्म फैक्टर कंप्यूटर और सर्वर का आयात ‘प्रतिबंधित’ होगा और उनके आयात को प्रतिबंधित आयात के लिए वैध लाइसेंस के खिलाफ अनुमति दी जाएगी.’

रखी ये शर्त
केंद्र सरकार के वाणिज्य मंत्रालय ने अपने नए निर्देशों के तहत विदेश से लैपटॉप, टैबलेट और सर्वर को मंगाने के लिए कुछ शर्तें लगा दी है. इन निर्देशों के अनुसार, आयात किए जाने वाले लैपटॉप और कंप्यूटर को इस्तेमाल का खास मकसद होना जरूरी है और इनकी बिक्री नहीं की जाएगी. 

इसके अलावा, एक और शर्त लगाई गई है जिसमें विदेश से आयातित लैपटॉप और कंप्यूटर को उनके इस्तेमाल के बाद नष्ट कर दिया जाएगा और इसके बाद इनका निर्यात किया जाएगा. इन प्रतिबंधित लैपटॉप और कंप्यूटर को मंगाने के लिए वैध लाइसेंस लेने की आवश्यकता होगी.

कीमतें हो सकती हैं ज्यादा
जब तक कंपनियां भारत में लैपटॉप लाने के लिए विशेष परमिट के लिए आवेदन नहीं करती हैं और प्राप्त नहीं कर लेती हैं – आयात प्रतिबंध से भारत में लैपटॉप, कंप्यूटर, मैकबुक और मैक मिनी की कीमतों में वृद्धि होने की संभावना है.

Previous articleiPhone 15 की लॉन्च डेट आई सामने, सितम्बर में इस दिन बाजार में दस्तक दे सकती है नई सीरीज
Next articleIPL 2024: ना साउथ अफ्रीका और ना ही UAE, आईपीएल 2024 होगा इस देश में!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here